राहुल गांधी ने किया वीर सावरकर का अपमान, उद्धव ठाकरे ने की थी सरेआम पीटने…

वीर सावरकर को लेकर साल 2016 में किए गए कथित आपत्तिजनक ट्वीट पर राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. इस मामले को लेकर मुंबई की भोईवाड़ा कोर्ट ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ जांच करने के आदेश दिए हैं. अब पुलिस मामले की जांच करेगी और अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंपेगी.

वीर सावरकर के परिजन रणजीत सावरकर ने बताया कि सावरकर स्मारक ने मुंबई की भोईवाड़ा कोर्ट में राहुल गांधी के खिलाफ शिकायत दाखिल की थी. मंगलवार को हमको जानकारी मिली है कि इस मामले में अदालत ने पुलिस को राहुल गांधी के खिलाफ जांच शुरू करने का आदेश दिया है.

इससे पहले रंजीत सावरकर ने वीर सावरकर के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्‍पणी को लेकर कांग्रेस पार्टी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी को लीगल नोटिस भेजा गया था. आरोप है कि कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से 2016 में ट्वीटस किए गए थे, जिनमें सावरकर को गद्दा कहा गया था. इससे वीर सावरकर का अपमान हुआ.

रंजीत सावरकर ने अपने नोटिस में कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट्स का जिक्र किया था, जो 5, 22 और 23 मार्च 2016 को किए गए थे. इनमें तस्‍वीरों, पोस्‍टरों और बयानों से विनायक दामोदर सावरकर को ‘गद्दार’ बताया गया था

इसके अलावा हाल ही में शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने वीर सावरकर का अपमान करने वालों को सरेआम पीटने की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी वीर सावरकर का अपमान कर चुके हैं.

उद्धव ठाकरे का यह बयान दिल्ली यूनिवर्सिटी में हाल में वीर सावरकर की मूर्ति स्थापना को लेकर हुए विवाद के बाद दिया था. उन्होंने कहा कि जो लोग ऐसे महान व्यक्तित्व के योगदान को मूल्य नहीं देते हैं, उनको पीटा जाना चाहिए